Hindi Shayari

Best Hindi Shayari For Gf/Bf 2020



If you are looking for Hindi Shayari for your girlfriend or Boyfriend then you are at right place, Here you can find best Hindi Shayari and share it with your friends and family.

In This website you can read all types of shayari like Love Shayari, Dosti Shayari, Romantic Shayari, Bewafa shayari and much more.  So read and enjoy.






जिस दिन तेरी मेरी बात नहीं होती , दिन नहीं गुजरता रात 🌙नहीं होती 😊😍😘😊
मुलाकातों की हमें ज़रुरत नहीं , बस तुम हमारे दिल में रहो इतना ही बहुत है 😍
प्यार करो तो हमेशा मुस्कुरा के, किसी को धोखा ना दो अपना बना के, कर लो याद जब तक हम ज़िंदा है, फिर ना कहना की चले गये दिल मे यादें बसा के... 😘😘😍😍
तूने फेसले ही फासले बढाने वाले किये थे , वरना कोई नहीं था, तुजसे ज्यादा करीब मेरे..। 💞 💞
तुझे अपना बनाने की हसरत थी, जो बस दिल में ही रह गयी; चाहा था तुझे टूट कर हमने; चाहत थी बस चाहत बन कर रह गयी। 😘😘😍😍
इसी ख्याल से गुज़री है शाम-ए-दर्द अक्सर; कि दर्द हद से जो गुज़रेगा मुस्कुरा दूंगा।
मैं और मेरा मासूम दिल तुझे online देख कर ही खुश हो जाते हैं 😍😘😊
डूबी हैं मेरी उँगलियाँ खुद अपने लहू में; ये काँच के टुकड़ों को उठाने के सज़ा है। 💞 💞
कुछ पल का साथ देकर तुमने पल पल के लिए मुझे अपना मोहताज़ बना दिया 💏
रात चुप हे मगर चाँद खामोस नही , केसे कहु आज फिर होस नही ; ऐसे डूबे हे उनकी यादों में की , हाथ में जाम हे पर पिनेका होस नही ! 💞 💞
न जाने इतनी मोहब्बत कहाँ से आ गयी उस अजनबी के लिए , की मेरा दिल भी उसकी खातिर अक्सर मुझसे रूठ जाया करता हे ..!! 😘😘😘
वो मोहब्बतें जो तुम्हारे दिल में हैं, उससे जुबां पर लाओ और बयां कर दो, आज बस तुम कहो और कहते ही जाओ, हम बस सुनें ऐसे बे-ज़ुबान कर दो. 😘😘😍
तेरी चुप्पी का सबब हम जानते है , लरज़ते होंठों की शिकायत हम जानते है , मेरी हिचकी भी दे रही है गवाही मुहब्बत की, तेरे पलकों की हरकत भी हम जानते है 😘😘😘
रब से आपकी खुशीयां मांगते है, दुआओं में आपकी हंसी मांगते है, सोचते है आपसे क्या मांगे, चलो आपसे उम्र भर की मोहब्बत मांगते है।
आपने नज़र से नज़र कब मिला दी, हमारी ज़िन्दगी झूमकर मुस्कुरा दी, जुबां से तो हम कुछ भी न कह सके, पर निगाहों ने दिल की कहानी सुना दी 😘😘😍😍
ख्वाब तो वो है जिसका हकीकत मे भी दीदार हो, कोई मिले तो इस कदर मिले, जिसे मुझ से ही नही मेरी रूह से भी प्यार हो…!!
तेरी धड़कन ही ‪ज़िंदगी‬ का किस्सा है मेरा, तू ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा है मेरा, मेरी ‪‎मोहब्बत‬ तुझसे, सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है, तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा..!! 😘😘😘
दिल‬ होना चाहिए जिगर होना चाहिए, आशिकी के लिए हुनर होना चाहिए, नजर से नजर मिलने पर ‪‎इश्क‬ नहीं होता, ‪नजर‬ के उस पार भी एक असर होना चाहिए।। 😘😘😍😍
लगता है तुम्हें नज़र में बसा लूँ , औरों की नजरों से तुम्हें बचा लूँ, कहीं चूरा ना ले तुम्हें मुझसे कोई, आ तुझे मैं अपनी धड़कन में छुपा लूँ.. 😘😘😍😍
तेरी सांस के साथ चलती है मेरी हर धड़कन, और तुम पूछते हो मुझे याद किया या नही.. 💞 💞
अंदाज-ऐ-प्यार तुम्हारी एक अदा है.. दूर हो हमसे तुम्हारी खता है.. दिल में बसी है एक प्यारी सी तस्वीर तुम्हारी.. जिस के नीचे ‘आई मिस यू’ लिखा है.. 😘😘😘
काश कैद कर ले वो पागल मुझे अपनी डायरी में, जिसका नाम छुपा रहता है मेरी हर एक स्टेट्स में.. 😘😘😍😍
तू मेरी धड़कन, मैं तेरी रूह, तू अगर हैं, तो मैं हूँ.
किस ख़त में रखकर भेजूँ, अपने इंतजार को, बेजुबां है इश्क़, ढूंढता है ख़ामोशी से तुझे. 😘😘😍😍
खुद ही दे जाओगे तो बेहतर है, वरना हम दिल चुरा भी लेते हैं. 💞 💞.
हर कोई पूछता है, करते क्या हो तुम ??? जेसे मोहब्बत कोई काम ही नहीं… 💞 💞
न जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे पर… तेरे सामने आने से ज़्यादा तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है …!!! 😘😘😘
अपनी मौत भी क्या मौत होगी, यू ही मर जायेंगे एक दिन तुम पर मरते-मरते ! 💞 💞
पोथी पढ़ पढ़ जग मुआ, पंडित भया न कोय । ढाई आखर प्रेम का, पढ़े सो पंडित होय । 😘😘😍😍
सौदा कुछ ऐसा किया है तेरे ख़्वाबों ने मेरी नींदों से, या तो दोनों आते हैं, या कोई नहीं आता !! 😘😘😘
सिर्फ दो ही वक़्त पर उसका साथ चाहिए, एक तो अभी और एक हमेशा के लिये..
करीब आओ ज़रा के तुम्हारे बिन जीना है मुश्किल, दिल को तुमसे नही.. तुम्हारी हर अदा से मोहब्बत है
हो जा मेरी कि इतनी मोहब्बत दूँगा तुझे, लोग हसरत करेंगे तेरे जैसा नसीब पाने के लिए..!! 😘😘😍😍
मैं अपनी मोहब्बत में- बच्चो की तरह हूँ, जो मेरा हैं बस मेरा है किसी और को क्यो दुँ 😘😘😍😍
तन्हाई मैं मुस्कुराना भी इश्क़ है, इस बात को सब से छुपाना भी इश्क़ है,
यूँ तो रातों को नींद नही आती, पर रातों को सो कर भी जाग जाना इश्क़ है।
बादलों से कह दो अब इतना भी ना बरसे…. अगर मुझे उनकी याद आ गई, तो मुकाबला बराबरी का होगा…. 😘😘😘
तुम जिन्दगी में आ तो गये हो मगर ख्याल रखना, हम ‘जान’ दे देते हैं मगर ‘जाने’ नहीं देते !!
उड़ रहा था मेरा दिल भी परिंदों की तरह, तीर जब लग गई तो कोई भी मरहम न हुआ, देख लेना था मुझे भी हर सितम की अदा, ऐ सनम तेरे जैसा मेरा कोई दुश्मन न हुआ. 😘😘😘
साँस थम जाती है पर जान नहीं जाती; दर्द होता है पर आवाज़ नहीं आती; अजीब लोग हैं इस ज़माने में ऐ दोस्त; कोई भूल नहीं पाता और किसी को याद नहीं आती। 😘😘😘
बस यही सोच कर हर तपिश में जलता आया हूँ; धूप कितनी भी तेज़ हो समंदर नहीं सूखा करते। 😘😘😍😍
बहुत दर्द हैं ऐ जान-ए-अदा तेरी मोहब्बत में; कैसे कह दूँ कि तुझे वफ़ा निभानी नहीं आती।
वो नाराज़ हैं हमसे कि हम कुछ लिखते नहीं; कहाँ से लाएं लफ्ज़ जब हमको मिलते नहीं; दर्द की ज़ुबान होती तो बता देते शायद; वो ज़ख्म कैसे दिखाए जो दिखते नहीं। 😘😘😍😍
रोते रहे तुम भी, रोते रहे हम भी; कहते रहे तुम भी और कहते रहे हम भी; ना जाने इस ज़माने को हमारे इश्क़ से क्या नाराज़गी थी; बस समझाते रहे तुम भी और समझाते रहे हम भी। 😘😘😘
ये क्या जगह है दोस्तो ये कौन सा दयार है; हद्द-ए-निगाह तक जहाँ ग़ुबार ही ग़ुबार है।
किसी ने यूँ ही पुछ लिया हमसे कि दर्द की कीमत क्या है, हमने हँसते हुए कहा, पता नहीं कुछ अपने मुफ्त में दे जाते हैं। 💞 💞
सब कुछ मिला सुकून की दौलत न मिली; एक तुझको भूल जाने की मोहलत न मिली; करने को बहुत काम थे अपने लिए मगर; हमको तेरे ख्याल से कभी फुर्सत न मिली। 😘😘😍
हमें कोई ग़म नहीं था ग़म-ए-आशिक़ी से पहले, न थी दुश्मनी किसी से तेरी दोस्ती से पहले, है ये मेरी बदनसीबी तेरा क्या कुसूर इसमें, तेरे ग़म ने मार डाला मुझे ज़िन्दग़ी से पहले। 😘😘😘
आज अचानक तेरी याद ने मुझे रुला दिया, क्या करूँ तुमने जो मुझे भुला दिया, न करती वफ़ा न मिलती ये सज़ा, शायद मेरी वफ़ा ने ही तुझे बेवफा बना दिया। 💞 💞
कभी कोई अपना अनजान हो जाता है, कभी अनजान से प्यार हो जाता है, ये जरुरी नही कि जो ख़ुशी दे उसी से प्यार हो, दिल तोड़ने वालो से भी प्यार हो जाता है। 😘😘😘
ना जाने क्या कहा था डूबने वाले ने समंदर से, कि लहरें आज तक साहिल पे अपना सर पटकती हैं।
मुझमें और तवायफ में फर्के फक्त है इत्ता, वो शब निकले, मैं सुब से निकलूँ साज़ो श्रृंगार में। 😘😘😍😍
ग़म वो मय-ख़ाना कमी जिस में नहीं, दिल वो पैमाना है जो कभी भरता ही नहीं।
मेरी फितरत मे नही है किसी से नाराज होना, नाराज वो होते है जिनको अपने आप पर गुरुर होता है। 😘😘😍😍
बिछड़ के तुम से ज़िन्दगी सज़ा लगती है, यह साँस भी जैसे मुझ से ख़फ़ा लगती है, तड़प उठता हूँ दर्द के मारे मैं, ज़ख्मो को मेरे जब तेरे शहर की हवा लगती है।
आयें हैं उसी मोड पे लेकिन अपना नही यहाँ अब कोई; इस शहर ने इस दीवाने को ठुकराया है बार-बार, माना कि तेरे हुस्न के काबिल नही हूँ मैं, पर यह कमबख्त इश्क तेरे दर पे हमें लाया है बार-बार। 😘😘😘
जाने क्या था जाने क्या है जो मुझसे छूट रहा है, यादें कंकर फेंक रही हैं और दिल अंदर से टूट रहा है। 😘😘😍😍
कभी संभले तो कभी बिखरते आये हम; जिंदगी के हर मोड़ पर खुद में सिमटते आये हम; यूँ तो जमाना कभी खरीद नहीं सकता हमें; मगर प्यार के दो लफ्जो में सदा बिकते आये हम; 😘😘😘
कितना और बदलूँ खुद को, जीने के लिए ऐ ज़िन्दगी, मुझमें थोडा सा तो मुझको बाकी रहने दे।
एहसास बदल जाते हैं बस और कुछ नहीं, वरना नफरत और मोहब्बत एक ही दिल से होती है। 😘😘😍😍
ज़रूरी तो नहीं था हर चाहत का मतलब इश्क़ हो, कभी कभी कुछ अनजान रिश्तों के लिए दिल बेचैन हो जाता है। 😘😘
गम तो है हर एक को, मगर हौसला है जुदा जुदा, कोई टूट कर बिखर गया, कोई मुस्कुरा के चल दिया। 💞 💞
मालूम जो होता हमें अंजाम-ए-मोहब्बत, लेते न कभी भूल के हम नाम-ए-मोहब्बत। 💞 💞
सोचते हैं जान अपनी उसे मुफ्त ही दे दें , इतने मासूम खरीदार से क्या लेना देना । 💞 💞
मुझे गरुर था उसकी मोह्ब्बत पर, वो अपनी शोहरत मे हमे भूल गया !
एक अरसा बीत गया..खुलकर मुस्कुराए हुए.. एक अरसा बीत गया..गीत कोई गाए हुए.. मेरी नज़रों को तेरा इन्तज़ार आज भी है.. एक अरसा बीत गया..कोई रिश्ता नया बनाए हुए.. 😘😘😘
इस दिल को किसी की आहट की आस रहती है, निगाह को किसी सूरत की प्यास रहती है, तेरे बिना जिन्दगी में कोई कमी तो नही, फिर भी तेरे बिना जिन्दगी उदास रहती है॥ 😘😘😍😍
गम इस बात का नही कि तुम बेवफा निकली, मगर अफ़सोस ये है कि, वो सब लोग सच निकले, 💞 💞
बिछड़ गए हैं जो उनका साथ क्या मांगू; ज़रा सी उम्र बाकी है इस गम से निजात क्या मांगू; वो साथ होते तो होती ज़रूरतें भी हमें; अपने अकेले के लिए कायनात क्या मांगू। 😘😘😍😍
चुपके चुपके कोई गम का खाना हम से सीख जाये; जी ही जी में तिलमिलाना कोई हम से सीख जाये; अब्र क्या आँसू बहाना कोई हमसे सीख जाये; बर्क क्या है तिलमिलाना कोई हम से सीख जाये। 😘😘😘
मेरी फितरत मे नही है किसी से नाराज होना, नाराज वो होते है जिनको अपने आप पर गुरुर होता है। 😘😘😍😍
बिछड़ के तुम से ज़िन्दगी सज़ा लगती है; यह साँस भी जैसे मुझ से ख़फ़ा लगती है; तड़प उठता हूँ दर्द के मारे मैं; ज़ख्मो को मेरे जब तेरे शहर की हवा लगती है।
आयें हैं उसी मोड पे लेकिन अपना नही यहाँ अब कोई; इस शहर ने इस दीवाने को ठुकराया है बार-बार, माना कि तेरे हुस्न के काबिल नही हूँ मैं, पर यह कमबख्त इश्क तेरे दर पे हमें लाया है बार-बार। 😘😘😘
जाने क्या था जाने क्या है जो मुझसे छूट रहा है, यादें कंकर फेंक रही हैं और दिल अंदर से टूट रहा है। 😘😘😍😍
कभी संभले तो कभी बिखरते आये हम, जिंदगी के हर मोड़ पर खुद में सिमटते आये हम, यूँ तो जमाना कभी खरीद नहीं सकता हमें, मगर प्यार के दो लफ्जो में सदा बिकते आये हम 😘😘😘
कितना और बदलूँ खुद को, जीने के लिए ऐ ज़िन्दगी, मुझमें थोडा सा तो मुझको बाकी रहने दे।
एहसास बदल जाते हैं बस और कुछ नहीं, वरना नफरत और मोहब्बत एक ही दिल से होती है। 😘😘😍😍
ज़रूरी तो नहीं था हर चाहत का मतलब इश्क़ हो, कभी कभी कुछ अनजान रिश्तों के लिए दिल बेचैन हो जाता है। 😘😘😘
गम तो है हर एक को, मगर हौसला है जुदा जुदा, कोई टूट कर बिखर गया, कोई मुस्कुरा के चल दिया। 💞 💞
मालूम जो होता हमें अंजाम-ए-मोहब्बत, लेते न कभी भूल के हम नाम-ए-मोहब्बत। 💞 💞
सोचते हैं जान अपनी उसे मुफ्त ही दे दें , इतने मासूम खरीदार से क्या लेना देना । 💞 💞
मुझे गरुर था उसकी मोह्ब्बत पर, वो अपनी शोहरत मे हमे भूल गया !
जिन्हीने बदली थी हमारे ख्वाइशों की जिंदगी.. आज वहो बदले बदले नज़र आते है.. उड़ गए उन परिंदों का मलाल क्या करे.. जब अपने भी औरो की छत पर नज़र आते है.. रातो के ख्वाबो का इंतजार क्या करू.. जब दिन मै भी डरावने सपने आत्ते है..
एक अरसा बीत गया..खुलकर मुस्कुराए हुए.. एक अरसा बीत गया..गीत कोई गाए हुए.. मेरी नज़रों को तेरा इन्तज़ार आज भी है.. एक अरसा बीत गया..कोई रिश्ता नया बनाए हुए.. 😘😘😘
इस दिल को किसी की आहट की आस रहती है, निगाह को किसी सूरत की प्यास रहती है, तेरे बिना जिन्दगी में कोई कमी तो नही, फिर भी तेरे बिना जिन्दगी उदास रहती है॥ 😘😘😍😍
गम इस बात का नही कि तुम बेवफा निकली, मगर अफ़सोस ये है कि, वो सब लोग सच निकले, 💞 💞
बिछड़ गए हैं जो उनका साथ क्या मांगू, ज़रा सी उम्र बाकी है इस गम से निजात क्या मांगू, वो साथ होते तो होती ज़रूरतें भी हमें, अपने अकेले के लिए कायनात क्या मांगू। 😘😘😍😍
चुपके चुपके कोई गम का खाना हम से सीख जाये, जी ही जी में तिलमिलाना कोई हम से सीख जाये, अब्र क्या आँसू बहाना कोई हमसे सीख जाये, बर्क क्या है तिलमिलाना कोई हम से सीख जाये। 😘😘😘
कुछ लोग पसंद करने लगे हैं अल्फाज मेरे, मतलब मोहब्बत में बरबाद और भी हुए हैं। 💞 💞
कोई दुश्मनी नही ज़िन्दगी से मेरी, बस ज़िद्द है तेरे साथ जीना है 💞 💞
मेरे चुप रहने से नाराज़ ना हुआ करो, कहते है टूटे हुए लोग हंमेशा ख़ामोश हुआ करते है 😘😘😍😍
तमाशा न बना मेरी मोहब्बत का, कुछ तो लिहाज़ कर अपने किए वादों का
तुम रख ना सकोगे मेरा तौफ़ा संभालकर, वरना मैं अभी दे दूं जिस्म से रूह निकाल कर। 😘😘😘
राज ज़ाहिर ना होने दो तो एक बात कहूँ , मैं धीरे- धीरे तेरे बिन मर जाऊँगा ....!!
कहा था सबने, डूबेगी यह कश्ती, मगर हम जानकर बैठे उसी में.
उसकी ये मासूम अदा मुझको बेहद भाती है, वो मुझसे नाराज़ हो तो गुस्सा सबको दिखाती है...!! 💞 💞
ज़रा देखो ये दरवाज़े पर दस्तक किसनेदी है, अगर इश्क़ हो तो कहना यहाँ दिल नही रहता।। 💞 💞
हर शख्स परिन्दोँ का हमदर्द नही होता दोस्तोँ, बहुत बेदर्द बैठे हैँ दुनिया मे जाल बिछाने वाले...!! 😘😘😘
चैन से रहने का हमको यूं मशवरा मत दीजिये, अब मज़ा देने लगी हैं ज़िंदगी की मुश्किलें…!!
एक वो है जो समझता नही, और यहाँ जमाना मेरी कलम पढ़ कर दीवाना हुआ जा रहा है 😘😘😍😍